27 मई 2011

मीटिंग -लघु कथा



रजत ...आई कॉंट वेट एनी मोर !'' यह कहकर सोनाक्षी ने मोबाईल को स्विच ऑफ कर सोफे पर फेंक दिया .दोपहर से इन्तजार करते-करते अब रात के नौ बजने वाले थे और रजत घर नहीं लौटा था .रजत ने ही मूवी देखने का प्रोग्राम बनाया था और बिजनेस मीटिंग के कारण इतनी देर हो गयी थी .सोनाक्षी ने कपडे बदले और बैडरूम में जाकर सो गयी .रात के साढ़े ग्यारह बजे डोर बैल बजी तो उसकी नींद खुली .उसने मैजिक आई से देखा रजत ही था .डोर खोलते ही रजत का थका चेहरा देखकर वह सारा गुस्सा भूल गयी.रजत बैडरूम में जाते ही जूते उतारकर लेट गया .सोनाक्षी ने उसके माथे पर हाथ लगाकर देखा तो वह तप रहा था .सोनाक्षी ने फैमिली डॉक्टर से फोन पर बात कर घर में रखी दवाइयों में से एक दवाई रजत को दे दी .सुबह होते-होते रजत की तबियत में काफी सुधार आ गया .सोनाक्षी ने रजत को बैड से उठते देखा तो बोली -''अरे..उठ क्यों रहे हो ?आराम से लेटे रहो .आज सब मीटिंग कैंसिल कर दो ..समझे !''रजत थोडा असहमत होता हुआ बोला ''...नहीं सोनू आज तो बहुत जरूरी मीटिंग है ...आज की मीटिंग कैंसिल करूँगा तो सब कुछ खो दूंगा ..''यह कहते हुए रजत उठकर अपना ब्रीफकेस उठा लाया और खोलकर एक गिफ्ट पैक सोनाक्षी की ओर बढ़ा दिया .सोनाक्षी चकित होते हुए बोली ''ये क्या है ?'' ''खुद देखो !'' रजत ने माथे पर आए बाल हटाते हुए कहा .''.....अरे ..इतनी सुन्दर रिंग .....'' ''सिर्फ तुम्हारे लिए ''यह कहते हुए रजत ने सोनाक्षी के कंधे पर हाथ रखते हुए कहा ''सॉरी... कल मैंने तुम्हारा दिल दुखाया था न ''.सोनाक्षी ने मुस्कुराते हुए रजत को आँखों ही आँखों में माफ़ करते हुए कहा ''अच्छा तो ये मीटिंग है .ये मीटिंग तो जीवन भर चलनी है....है न .''रजत भी मुस्कुरा दिया .

9 टिप्‍पणियां:

शालिनी कौशिक ने कहा…

yadi aaj ke jodon me is tarh kee samjhdari aur pyar viksit ho jaye to samaj me aadarsh kee sthapna ho jaye.bahut sarthak laghu katha.badhai.

सुधाकल्प ने कहा…

बहत सुन्दर प्यार और समर्पण की कथा।
सुधा भार्गव

देवेन्द्र पाण्डेय ने कहा…

यह मीटिंग है या खुद से चीटिंग!

वन्दना ने कहा…

वाह्…………प्रेम की सुन्दर अभिव्यक्ति।

डॉ० डंडा लखनवी ने कहा…

sarahaneey laghu katha. mangal kamnayen.

डॉ० डंडा लखनवी ने कहा…

sarahaneey laghu katha. mangal kamnayen.

डॉ० डंडा लखनवी ने कहा…

sarahaneey laghu katha. mangal kamnayen.

डॉ० डंडा लखनवी ने कहा…

sarahaneey laghu katha. mangal kamnayen.

Aman bajpi ने कहा…

SO TOUCHY.....
ummeed h ladkiyaa itni samajhdaar aur ldke itne...caring ho jaye....we'll hv a better society....instantly!